नोट-वैबसाइट पर आने के बाद पेज को ऊपर कि तरफ़ स्क्रोल करोगे तो पूरी जानकारी मिलेगी |

राजस्थान में पान मसाला एवं फ्लेवर्ड सुपारी पर बेन , ऐसा करने वाला राजस्थान बना तीसरा राज्य

राजस्थान में पान मसाला एवं फ्लेवर्ड सुपारी पर बेन , ऐसा करने वाला राजस्थान बना तीसरा राज्य

राजस्थान बड़ी खबर-

राजस्थान सरकार ने महात्मा गांधी जयंती के अवसर पर राज्य में मैग्नीशियम कार्बोनेट , निकोटीन , तंबाकू या मिनरल ऑयल युक्त पान मसाला और फ्लेवड सुपारी के उत्पादन , भंडारण , वितरण और बिक्री पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है |

सरकारी बयान के अनुसार महाराष्ट्र , बिहार के बाद राजस्थान देश का ऐसा तीसरा राज्य बन गया जहां इन उत्पादों पर पूर्ण प्रतिबंध है ||

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि युवाओं में नशे की लत को रोकने के लिए यह महत्वपूर्ण कदम उठाया गया है. इन पदार्थों की पुष्टि स्टेट सेंट्रल पब्लिक हैल्थ लैबारेट्री राजस्थान द्वारा कराई जाएगी ||

जन घोषणा पत्र और बजट घोषण में किया था जिक्र
राज्य सरकार की ओर से जारी कार्यालय आदेश के अनुसार खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम 2006 के अंतर्गत खाद्य सुरक्षा एवं मानक ( विक्रय का प्रतिषेध और निर्वधन) विनियम, 2011 के तहत यह प्रतिबंध लगाया गया है. राज्य सरकार के जन घोषणा पत्र के बिंदु 24 के 19.4 पर ‘युवाओं में नशे की लत रोकने हेतु कारगर कदम उठाना’ और बजट घोषणा वर्ष 2019-20 के बिंदु संख्या 100 ‘युवाओं में पान-मसाला गुटखा खाने की लत से स्वास्थ्य को हानि होती है. घटिया सामग्री की बिक्री को नियंत्रिक कर, चोरी के माल की बिक्री पर सख्ती बरतते हुए पूरी तरह रोक लगाने की कार्ययोजना बनाई जाएगी’ का जिक्र किया गया है ||

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि युवाओं में नशे की लत को रोकने के लिए यह महत्त्वपूर्ण कदम उठाया गया है. इन पदार्थों की पुष्टि स्टेट सेंट्रल पब्लिक हेल्थ लैबारेट्री, राजस्थान द्वारा कराई जाएगी. शर्मा ने कहा कि खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत ऐसे सभी उत्पादों पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा. उन्होंने कहा कि ऐसी घटिया सामग्री की बिक्री को नियंत्रित कर, चोरी के माल की बिक्री पर सख्ती बरतते हुए इन पर पूरी तरह से रोक लगाने की कार्य योजना बनाई जा रही है. बता दें कि हाल ही राजस्थान सरकार ने ई-सिगरेट और हुक्का बारों पर भी प्रतिबंध लगाया था ||