यदि ऐसी हालत रही तो भारत नहीं बचेगा ज्यादा दिन देखे पूरी न्यूज़

हवा में जहर दुनिया में भारत सबसे ज्यादा प्रदूषण 20 शहरों में एक क्यूआई खतरनाक 470 के पार

देश की हवा जहरीली हो गई है 20 शहरों में शुक्रवार को एयर क्वालिटी  इंडेक्स एक्टिवा ई खतरनाक स्तर को पार कर गया दिल्ली में औसत

एक्यूआई 484 रहा सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित एपीसीए ने यहां पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी घोषित कर दी लोगों को खुले में शेर या कसरत नहीं

करने की सलाह दी गई है ||

 

सभी स्कूल 5 नवंबर तक बंद रहेगी इस बीच राजस्थान प्रदूषण नियंत्रण मंडल बोर्ड ने  भी शुक्रवार को अलवर व भरतपुर जिले में 250 स्टोन

कैंसर और हॉट मिक्स प्लांट के बाद रखने के आदेश जारी किए हैं भिवाड़ी औद्योगिक क्षेत्र में भी कोयला व अन्य ईंधन के उपयोग से चलने

वाली करीब 125 इंडस्ट्रीज  बंद रहेगी प्रदूषण को लेकर आईपीसीए की रिपोर्ट और पराली जलाने जैसे मुद्दों पर सुप्रीम कोर्ट 4 नवंबर को

सुनवाई करेगी ||

 प्रतिशत प्रदूषण पराली जलाने की वजह से बड़ा

 

सरकार के एजेंसी सफर में मुताबिक शुक्रवार को दिल्ली के प्रदूषण में 44% हिस्सा  पराली  के धुए का था  यह इस सीजन में सबसे ज्यादा है

ग्रेटर नोएडा में प्रदूषण फैलाने पर निर्माण कंपनी नर्स एंड टुब्रो सहित नौ स्थानों पर जुर्माना दिल्ली में 4 से 15 नवंबर तक लागू रहेगा ||

 

इस दौरान लोगों की सुविधा के लिए आधे दफ्तर 9:30 और आधे 10:30 बजे खुलेंगे कूड़ा और प्लास्टिक जलाने पर निगरानी बढ़ाने को कहा

गया है ||

 

सड़कों पर मशीन से झाड़ू लगाने के साथ ही पानी भी लड़का जा रहा है जयपुर में शुक्रवार को एक यूआई 127 रहा यह माध्यम माना जाता है

लेकिन दिवाली के दिन यह खतरनाक स्तर 372 पर पहुंचा था ||

 

दिल्ली का वायु प्रदूषण

दिल्ली का वायु प्रदूषण 400 स्तर तक हो चुका है इसका अंदाजा इसी से लगाया जाता है  कि मां के पेट में पल रहा बच्चा रोजाना 25 से सीग्रेट

पीने से निकले हुए के बराबर नुकसान जेल रहा है इसी तरह ट्रैफिक पुलिसकर्मी ऑटो चालक और एमसीडी कर्मी या दूसरे लोगों को 1 दिन में

कम से कम 8 से 10 घंटे सड़क पर खड़े उसके आसपास खुले में अपनी ड्यूटी देते हैं वह सो सिगरेट से अधिक निकली दुआ के बराबर प्रदूषण

को सांस के जरिए अपने अंदर ले रहे हैं  ||

 

 

 दिल्ली में 9 माह से सबसे ज्यादा प्रदूषण

दिल्ली का औषध एयर क्वालिटी इंडेक्स 484 पहुंचा यह 9 महीने में सबसे खराब जयपुर में यह आंकड़ा 127 दिवाली के दिन खतरनाक स्तर 372a क्यूआई पर पहुंचा था

 

 5 नवंबर तक सभी निर्माण कार्य पर  प्रतिबंध

उच्चतम न्यायालय के तरफ से गठित टेंशन में शुक्रवार को दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में जमीन स्वास्थ्य आपातकाल

की घोषणा करते हुए 5 नवंबर तक सभी निर्णय कार्यों पर प्रतिबंध लगा दिया है 

पर्यावरण प्रदूषण रोकथाम व नियंत्रण प्राधिकरण ईपीसीए का कहना है कि दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बेहद  खतरनाक

दिल्ली में जा पहुंचा है ईपीसीए ने इस स्थिति को बेहद गंभीर श्रेणी में रखा है   पटाखों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है