जन आधार योजना – Jan Aadhar Yojana

जन आधार योजना – Jan Aadhar Yojana

जारी होगी 10 अंको की पहचान 

 

राज्य सरकार ने सरकारी योजनाओं का लाभ आमजन तक पहुंचाने के लिए राजस्थान जन आधार योजना का शुभारंभ किया गया है। इसके तहत जन सांख्यिकीय एव सामाजिक आर्थिक सूचनाओं का डेटाबेस तैयार कर प्रत्येक परिवार को एक नंबर, एक कार्ड, एक पहचान के लिए एक 10 अंकों का नंबर जारी किया जाएगा।

प्रदेश के सभी निवासी परिवार जन आधार योजना 2019 के तहत पंजीयन कराने एवं जन आधार कार्ड प्राप्त करने के लिए पात्र परिवारों को 10 अंकीय पहचान संख्या सहित जन आधार कार्ड जारी किया जाएगा। जन आधार योजना में 18 वर्ष या इससे अधिक आयु की महिला को मुखिया बनाया जाएगा। यदि परिवार में 18 वर्ष या इससे अधिक आयु की महिला नहीं है तो उसकी उम्र 21 वर्ष या इससे अधिक आयु के पुरुष को परिवार का मुखिया बनाया जा सकेगा। यदि दोनों ही प्रकार के सदस्य नहीं हैं तो किसी भी अधिकतम आयु के सदस्य को परिवार का मुखिया बनाया जाएगा। जन आधार कार्ड का मुख्य उद्देश्य जनसंख्या एवं सामाजिक आर्थिक सूचना का डाटा बेस तैयार कर प्रत्येक परिवार को एक नंबर, एक कार्ड एवं एक पहचान प्रदान करना है। गौरतलब है कि यह कार्ड बनने के बाद पेंशन के लिए जीवित प्रमाण पत्रों को जमा नहीं कराना होगा। इसके साथ ही राशन कार्ड, आयुष्मान कार्ड की व्यवस्था समाप्त कर दी जाएगी।

योजना का मुख्य उद्देश्य लोगों को अधिकाधिक जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ उनके घर के समीप उपलब्ध कराए, ई-कॉमर्स एवं बीमा सुविधाओं का ग्रामीण क्षेत्रों में विस्तार, ई-मित्र का विनियमन द्वारा नियंत्रण एवं प्रभावी संचालन, नकद लाभार्थी को हस्तांतरण एवं गैर नकद लाभ आधार अथवा जन आधार अधिप्रमाणन के बाद प्रदान करना है। इसके अलावा महिला सशक्तिकरण एवं वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देना है। इसके साथ ही जनकल्याणकारी योजनाओं के लिए परिवार अथवा परिवार के सदस्यों की पात्रता निर्धारण करना तथा विभिन्न योजनाओं के लाभ प्राप्ति के समय आधार अधिप्रमाणन को ही लाभार्थी के जीवित प्रमाण-पत्र के रूप मेंं मान्यता प्रदान करना है।